ghar ka naksha

All Rights Reserved, मकान का नक्शा (Ghar ka naksha) बनाते समय ध्यान में रखें ये बातें, एयर इंडिया के लिए टाटा ग्रुप लगा सकती है बोली, 1932 में टाटा एयरलाइंस के नाम से की थी स्थापना, कोरोना काल में सरकार की योजना, नहीं होगा संसद का शीतकालीन सत्र, जनवरी में शुरू होगा बजट सेशन, किसानों को समझाने के लिए सरकार ने बनाया प्लान, इस तरह किसानों तक बात पहुंचाने की है तैयारी, 10 किसान संगठनों ने किया कृषि कानूनों का समर्थन, कृषि मंत्री को सौंपा समर्थन पत्र, शाह की गुगली में फंसी ममता बनर्जी, तीनों आईपीएस अफसरों को भेजने के सिवा कोई चारा नहीं, मध्य दिशा – वास्तु शास्त्र में 9 दिशाएं बताई गई हैं जिनमें से एक दिशा मध्य दिशा होती है। वास्तु शास्त्र में मध्य दिशा को काफी शुभ माना गया है और इस दिशा में घर बनाने से व्यक्ति के जीवन पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। इसलिए ऑफिस या मकान का नक्शा (Ghar Ka Naksha) बनाते समय मध्य की दिशा का विशेष ध्यान रखना चाहिए।, दक्षिण दिशा – दक्षिण दिशा को कैरियर से जोड़कर देखा जाता है और वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की दक्षिण दिशा और दक्षिण-पश्चिम दिशा कुशलता, ज्ञान और तरक्की से जुड़ी होती है।, उत्तर दिशा – उत्तर-पश्चिम दिशा का नाता धन और समृद्धि से होता है। जबकि उत्तर दिशा का सम्बन्ध सामाजिक सम्मान से होता है और उत्तर-पूर्व दिशा पति-पत्नी के संबंधों पर प्रभाव डालती है।, पूर्व दिशा – घर की पूर्व दिशा विकास, सोच और स्वास्थ्य से जुड़ी होती है और इस दिशा को बच्चों के लिए उत्तम माना जाता है। जबकि दक्षिण-पूर्व दिशा को शांति से जोड़कर देखा जाता है।, घर का नक्शा (Ghar Ka Naksha) इस तरह से बनाएं की घर के सामने तिराहा या चौराहा कभी भी ना आए। क्योंकि तिराहा या चौराहा को नकारात्मकता से जोड़कर देखा जाता है।, आंगन से सकारात्मकता जुड़ी होती है। इसलिए आप जब भी घर बनाएं तो घर में आंगन जरूर बनवाएं और आंगन में तुलसी का पौधा भी जरूर लगवाएं।, मकान का नक्शा बनाते समय आप इस बात का ध्यान जरूर रखें की आपके घर में अधिक खिड़कियां ना हों। क्योंकि घर में अधिक खिड़कियां होना वास्तु दोष माना जाता है।, ड्राइंग रूम घर का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान होता है और इस जगह पर फर्नीचर, शो केस जैसी चीजे रखीं जाती हैं। वास्तु शास्त्र में इन सभी प्रकार की चीजों को रखने के लिए दक्षिण-पश्चिम या नैऋत्य में को उत्तम बताया गया है।. क्या बदल देगा किस्मत सपने में बंदर देखना? 65 talking about this. इसलिए आप जब भी अपने मकान का नक्शा (Ghar Ka Naksha) तैयार करें तो अपने घर के मुख्य दरवाजे को पूर्व दिशा में ही बनाएं। घर के मुख्य दवार पर तोरण लगा होना शुभ माना जाता है। और मुख्य दरवाजे को हमेशा सुन्दर बनाना चाहिए. 30x60 house plan | 30x60 house design | 30*60 house design single floor | Ghar Ka Naksha. प्राचीन काल से ही वास्तु शास्त्र की एहमियत बानी हुई है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा बनाने से आपका घर सुखमय रहता है। घर का निर्माण केसा होना चाहिय यह वास्तु अच्छे से बताता है। घर बनाते वक़्त हमेशा वास्तु के अनुसार घर का नक्शा बनाएं। ऐसा करने से किसी प्रकार का वास्तु दोष उत्पन्न नहीं होता।, वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा बनाते वक़्त दिशाओ का भी ध्यान रखा जाता है। ऐसा करने से आपके घर का हर कोण दिशाओं के अनुकूल बनता है। इसका सबसे बड़ा फायदा है की घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रहाव रहता है। Shraddha September 19, 2019. Message me. Click on the photo of Ghar ka naksha to open a bigger view. Simple backyard design Top 5 Simple Backyard Landscaping Design Ideas. 30X60 indian house plan | 30 by 60 ghar ka naksha PDF File Download- Click Here. 200 gaj plot naksha - Expert ideas and tips with photos, designs with pics for 200 gaj plot naksha Naya ghar banana har kisi ka sapna hota hai. पढ़ने का कमरा घर मे रेहने वाले बच्चों के लिए जरूरी होता है।घर बनाते वक़्त इस कमरे की दिशा पर ध्यान देना चाहिए। इस कमरे के निर्माण के कुछ नियम इस प्रकार है : सभी व्यक्तियों को जीवन व्यतीत करने के लिए भोजन की आवश्यकता जरूर होती है। इसी कारण से रसोईघर की दिशा भी बहुत जरूरी है । अगर सही नहीं होती तो घरवालों को भोजन के पाचन की बिमारियों होती है। वास्तु शास्त्र के नियमों के अनुसार रसोई घर कुछ इस तरह बनाये: ड्राइंग रूम वह जगह है जहाँ घर के सभी लोग बैठ के हस्सी ठिठोली करते है। मेहमान का भी सत्कार इसी जगह पे होता है। इस कमरे की दिशा का ध्यान रखना महत्वपूर्ण है । जानिए वास्तु के अनुसार घर का ड्राइंग रूम केसा होना चाहिए : नीचे दिए गए वास्तु के कुछ सिद्धांत है जिनका घर बनाते वक़्त पालन करना चाहिए : वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का नक्शा (Vastu for house), दिशाओं के साथ वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा (Vastu Disha). 100 gaj ghar ka naksha. 500 SQFT HOUSE PLAN20 X 25 GHAR KA NAKSHA 20 x 25 SMALL HOUSE DESIGN II 20 X 25 GHAR KA NAKSHA II 500 SQFT HOUSE PLAN. se kam ya zyada hai to bhi ap apne plot ke size ke hisaab se is nakshe me badlao kar sakte hain. vastu shastra in hindi, फिटकरी का एक टुकड़ा बदल देगा किस्मत का चक्र, SAF 7 Running Horses Vastu UV Coated Home Decorative Gift Item Framed Painting 14 inch X 20 inch, GJ Grand Jhaiji Feng Shui Frog Showpiece Brass Colour, GJ Grand Jhaiji Feng Shui Laughing Buddha with Frog on Bed of Wealth for Success and Happpiness (7 cm x 7 cm x 5 cm), Metal Turtle on Plate Feng Shui Vastu Tortoise Puja Yantra Good Luck Brass Vaastu/Fengshui Tortoise/Turtle for with Plate-Brass,Standard, Golden Size 4-Inch Best Gift Career, घर के मुख्य द्वार पर शुभ चिन्ह, जैसे की ॐ , स्वस्तिक का प्रयोग करना चाहिए।, घर बनाते वक़्त थोड़ी सी जगह घर के आँगन के लिए भी रखनी चाहिए। चाहे छोटा ही सही घर में, घर के आँगन में सकारात्मक ऊर्जा पैदा करने वाले, आमला आपके शरीर को समय से पहले बूढ़ा और कमज़ोर नहीं होने देता। इसीलिए घर बनाते वक़्त आमले, घर बनाते वक़्त टॉयलेट और स्नानगृह अलग रखना चाहिए। यह दोनों जगहों के एक साथ होने से घर में कलेश हो सकता है।, घर के निर्माण के वक़्त स्नानगृह में नल की व्यवस्था उतर या पूर्व दिवार पर होनी चाहिए।, बाथटब में नहाते वक़्त व्यक्ति के पैर दक्षिण दिशा में ना हो जाये।, घर बनाते वक़्त शौचालय की दिशा पे ध्यान देना जरूरी है।, शौचालय के लिए पश्चिमी-दक्षिण और पश्चिम मध्य की दिशा सबसे उचित मानी गई है।, वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में नल से टपकते पानी को अच्छा नहीं माना गया है। इसीलिए घर में पानी की निकासी हमेशा उतर या पूर्व दिशा से हो।, किसी भी घर में पूजा घर सबसे महत्वपूर्ण होता है।, घर के पूजा घर मे वास्तु के अनुसार भगवन की मूर्तियां आमने सामने नहीं होनी चाहिए।, पूजा घर कभी भी घर के शयन कक्ष में नहीं होना चाहिए। उत्तर पूर्व, घर बनाते वक़्त यह ध्यान रखे की आप पूजा घर की सीढ़ियों के नीचे ना बनवादें। यह जगह बिलकुल सही नहीं है पूजा घर के लिए।, अगर आपके घर में उप्परि मंजिल है तो दक्षिण पश्चिम दिशा सबसे उचित है मास्टर बैडरूम के लिए।, जब आप सोये तो आपका सर दिवार से सटा हुआ होना चाहिए।, उत्तर दिशा की तरफ पैर करके सोना चाहिए। इससे आपको स्वास्थय और आर्थिक लाभ होते है।, सोते वक़्त पश्चिम दिशा की तरफ पैर रखना चाहिए। ऐसा करने से शरीर की सारी थकान निकल जाती है। आपको नींद भी अच्छी आती है।, आप जिस बिस्तर पे सोते है उसके सामने शीशा नहीं लगाना चाहिए। बिस्तर शयनकक्ष के दरवाज़े के सामने नहीं होना चाहिए।, सोते वक़्त आपका सर दक्षिण या फिर पूर्व दिशा मे होना चाहिए।, हमेशा ध्यान रखे की आपके कमरे के दरवाज़ों से करकराहट की आवाज़ें नहीं आये।, वास्तु के अनुसार आपका पलंग लकड़ी का होना चाहिए ।लोहे से बने हुए पलंग का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। लोहे से बने हुए पलंग सही नहीं होते।, इस कमरे के लिए उचित दिशाए है पूर्व , उत्तर , ईशान और पश्चिम।, अध्यन करते वक़्त हमेशा दक्षिण या पश्चिम दिवार से सटकर बैठना चाहिए।, अध्यन के टाइम आपका मुख उत्तर या पूर्व दिशा की तरफ होना चाहिए।, पढ़ते वक़्त मुख उत्तर या पूर्व दिशा मे होना चाहिए। इसी के अनुसार अपने कमरे मे फर्नीचर एडजस्ट करे।, आपके पीठ के पीछे दिवार हो सकती है दरवाज़ा नहीं।, किताबें रखने के लिए अलमारी दक्षिणी दिवार या पश्चिम दिवार पर होनी चाहिए।, हल्का हरा रंग, बादामी रंग, हल्का आसमानी रंग और सफ़ेद रंग इस कमरे के लिए उचित होते है।, इस दिशा के अलावा दूसरी उचित दिशा उत्तर पश्चिम दिशा है।, उत्तर पश्चिम दिशा मे भी आप रसोई घर बना सकते है।, भोजन करते वक़्त आपका मुख उत्तर या पूर्व की तरफ होना चाहिए।, भोजन बनाने वाले का मुख पूर्व दिशा मे होना चाहिए।, बर्तन और मसालें रखने की सबसे उचित दिशा पश्चिम दिशा है।, बिजली के उपकरण हमेशा दक्षिण पूर्व दिशा मे होने चाहिए।, झूठे बर्तन और खाना बनाने वाला चूल्हा दोनों अलग स्लैब पे होने चाहिए।, हरा रंग, पीला रंग, गुलाबी रंग और क्रीम रंग उचित रंग है रसोईघर के लिए। काले रंग का उपयोग कभी भी नहीं करना चाहिए।, रसोईघर मे पीने का पानी रखने के लिए उत्तर पूर्व दिशा उचित है।, गैस रखने के लिए दक्षिण पूर्व दिशा सबसे उचित है।, रसोई मे पूजा का स्थान नहीं बनाना चाहिए। अगर है तो उत्तर पश्चिम दिशा सही है रखने के लिए।, इस कमरे में फर्नीचर या भारी वस्तु हमेशा दक्षिण पश्चिम दिशा मे रखनी चाहिए।, इस कक्ष मे बैठते वक़्त घर के मालिक का मुख हमेशा उत्तर या पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए ।, आप ड्राइंग रूम को एक्वेरियम से सजा सकते है। एक्वेरियम हमेशा उत्तर पूर्व कोण मे रखना चाहिए।, इस कमरे की दीवारों का रंग हरा, हल्का नीला, आसमानी रंग, पीला रंग या क्रीम रंग उचित माना गया है।, घर का मुख्या द्वार 4 मे से ही किसी एक दिशा में होना चाहिए। यह 4 दिशाएं है – ईशान , उत्तर , वायव्य और पश्चिम।, आपके घर के आस पास या एकदम सामने तिराहा या चौराहा नहीं होना चाहिए।, घर का दरवाज़ा बीच मे से खुलने वाला होना चाहिए।, मुख्या द्वार के ऊपर ॐ या स्वस्तिक का चिन्ह बनाना चाहिए।, घर में भगवान् की अधिक तस्वीरें और मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए।, घर के सारे कोने और ब्रह्मस्थान हमेशा खाली रखना चाहिए।, अगर आपके घर के पास कोई मंदिर बना हुआ हो तो अच्छा है।, घर के ऊपर केसरिया रंग का ध्वज लगाके रखना चाहिए।, घर में टूटे फूटे बर्तन और कबाड़ इकठा ना करे। कबाड़ से नकारात्मक ऊर्जा बनती है।. हमें समय समय पर शौचालय को साफ़ करते रहना चाहिए।, मकान का नक्शा बनाते समय आप मास्टर बेडरूम की दिशा पर खासा ध्यान दें और मास्टर बेडरूम यानी शयन कक्ष को घर के दक्षिण-पश्चिम या उत्तर-पश्चिम की ओर ही बनवाएं। बेड रूम में बहुत अधिक शीशे न रखे एक से अधिक शीशा रखना आपके नक़्शे के आधार पर और वास्तु के आधार पर अच्छा नहीं माना जाता हैं।, स्टडी रूम या अध्ययन कक्ष के लिए पूर्व, उत्तर, ईशान तथा पश्चिम के मध्य की दिशा को सबसे उत्तम माना गया है और आप इसी दिशा पर अपना स्टडी रूम या अध्ययन कक्ष बनाएं। स्टडी रूम में किताबो को को सहेज कर एक दम सही से रखे। किताबो को पड़ने के बाद एक दम उचित स्थान पर ही रखे।, जब भी आप अपने घर का नक्शा बनाएं तो नीचे बताई गई बातों का जरूर ध्यान रखें-, © Copyright 2020, Newstrend Network Communication Pvt Ltd . वास्तु के अनुसार कैसा होना चाहिए स्टोर रूम - store room vastu, वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का नक्शा नहीं बनाते है तो, वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा केसा होना चाहिए, मकान का नक्शा इसी हिसाब से बनाएं की शौचालय इस दिशा, वास्तु के हिसाब से घर के दरवाजे कैसे होने चाहिए – घर के दरवाजे का वास्तु, दिवाली पर घर को झटपट साफ करने के 10 शॉर्ट कट, Feng Shui Owl for Money and Wisdom Showpiece - 10 cm by Make in India, Wonderland Frog Sitting 1 on Stone - Feng Shui for Luck, Wealth, Happiness, Garden Decor, Home Decoration, Frog Collection, Kids Room dŽcor, Gift Item. घर की अंदरूनी सजावट हो या बाहर का लुक हो उसपर हमारा विशेष ध्यान होता है. 30X60 indian house plan | 30 by 60 ghar ka naksha. Are you an Architect/Interior Designer? 20 by 50 Ghar ka 3D Naksha or Samne Ka Design :- दोस्तों हमारे पास जो प्लॉट का साइज है वह 20 by 50 है हम आपको 20 by 50 प्लाट के नक्शे के बारे में बत… वास्तु के अनुसार घर घर की दिशा कोनसी हो ? Properties built with the principles of Vastu, are often seen to be well-placed, well-ventilated and even healthier for the inhabitants. वास्तु के अनुसार देवताओं को किस दिशा में रखें ? Ghar ka Naksha 2304 sq ft Ghar Ka Naksha Plot area= 54 X 62 feet Built-up area= 48 X 48 feet bedroom= 6 batroom=3 puja room= 1 kitchen= 1 ha... 1224 sqft House Plan- Full Layout Drawing | 34 X 36 feet House Plan If you have a plot size of 20 feet by 45 feet i.e 900 sqmtr or 100 gaj and planning to start construction and looking for the best plan for 100 gaj plot then you are at the right place. https://baigfun.blogspot.com/2011/01/ghar-ka-naqsha-khud-banain.html vastu shastra ke anusar ghar ka naksha वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा, वास्तु शास्त्र के अनुसार घर,,वास्तु के अनुसार घर, वास्तु शास्त्र में दिशाओं का महत्व वास्तु शास्त्र के नियमों के तहत अगर घर को बनाया जाए तो घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। इसलिए आप वास्तु शास्त्र को ध्यान में ही रखकर मकान का नक्शा (Ghar Ka Naksha) तैयार करें और जब भी मकान का नक्शा बनाएं तो नीचे बताए गए वास्तु नियमों का पालन जरूर करें।, आज के समय में जब भी कोई अपना घर बनाना चाहता है तो वह बहुत सी बातो का ध्यान रखता है। घर बनाने से पहले ही हमें बहुत सी बातो का ध्यान रखना पड़ता है। वास्तु के अनुसार सबसे पहले घर का नक्शा त्यार किया जाता है। घर के नक़्शे (Makan ka naksha) में घर में कौन सी स्थान कहाँ होना चाहिए, यह सब कुछ वस्तु के अनुसार ही रखना चाहिए। घर बनाने से पहले नक्शा बनाना बहुत अनिवार्य है, क्युकि वास्तु के अनुसार नक्शा बनाने से वास्तु दोष से बचा जा सकता है। और घर में सुख शांति लाई जा सकती है।, वास्तु के अनुसार घर का मुख्य दरवाजा हमेशा पूर्व दिशा में होना चाहिए। क्योंकि वास्तु में इस दिशा को समृद्धि का मार्ग माना गया है और इस दिशा में घर का दरवाजा होने से घर में समृद्धि आती है। वहीं दक्षिण दिशा को घर के मुख्य दरवाजे के लिए अशुभ माना गया है और इस दिशा में घर का मुख्य दरवाजा बनाने से घर में दुखों का प्रवेश हो जाता है।, इसलिए आप जब भी अपने मकान का नक्शा (Ghar Ka Naksha) तैयार करें तो अपने घर के मुख्य दरवाजे को पूर्व दिशा में ही बनाएं। घर के मुख्य दवार पर तोरण लगा होना शुभ माना जाता है। और मुख्य दरवाजे को हमेशा सुन्दर बनाना चाहिए. ... Mera tribhuj akar jameen hai ghar kaise banega sir. वास्तु शास्त्र में दिशाओं का महत्व बहुत है। मकान का नक्शा वास्तु शास्त्र दिशा के अनुसार ही बनाना चाहिए। आइए अब जानते है की दिशाओ के साथ घर का नक्शा केसा होना चाहिए : घर के मुख्या द्वार के लिए पूर्व दिशा सही है। इस दिशा में मुख्या द्वार होने से घर में समृद्धि आती है। मुख्या द्वार दक्षिण दिशा में नहीं होना चाहिए। ऐसा होने से मुश्किलें बढ़ती है।, अगर आपका द्वार इस दिशा में है तो आपको वास्तु के उपाय अपनाने चाहिए। मुख्या द्वार के सामने कोई पेड़ नहीं होना चाहिए। द्वार के सामने बिजली का खम्बा भी नहीं होना चाहिए। T पर भी नहीं बनाएं। मुख्य द्वार के सामने तिराहा और चौराहा नहीं चाहिए। यह नकारात्मकता फैलाता है।, मकान के नक़्शे में अग्नि, वायु और जल देवता का ध्यान देना चाहिए। इनकी दिशाएं बदलनी नहीं चाहिए। जो जिसकी दिशा है उस पर उनके सम्भंदित कार्य ही होने चाहिए। जैसे की जल देवता की दिशा में जल के सम्भंदित कार्य।, अग्नि देवता रसोई से संभंधित होते है। आग्नेय कोण और दक्षिण पूर्वी दिशा रसोई के लिए सही है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा इसी हिसाब से बनाएं की रसोई इस दिशा में बने।, वास्तुशास्त्र के नियम के अनुसार पानी की जमा करके रखने की सही दिशा ईशान कोण है। यह उत्तर पूर्वी दिशा में होता है। इसीलिए मकान के नक़्शे में पानी का टैंक इसी दिशा में बनवाएं।, वास्तुशास्त्र के नियम के अनुसार पूजा घर ईशान कोण में होना चाहिए।, नैऋत्य कोण शौचालय की सही दिशा है। मकान का नक्शा इसी हिसाब से बनाएं की शौचालय इस दिशा में बनाया जाये।, सुकून भरे घर के लिए सबसे जरूरी है वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा तय करना। इसके साथ घर की दिशा भी जरूरी होती है। घर के लिए पूर्व , ईशान और उत्तर दिशा सबसे शुभ ,मानी जाती है। वायव्य और पश्चिम दिशा भी ठीक होती है। घर के लिए आग्नेय , नैऋत्य और दक्षिण दिशा बिलकुल सही नहीं होती।, घर हमेशा वास्तुशास्त्र के नियमों के अनुसार होना चाहिए। घर के आगे पीछे आँगन होना चाहिए। घर की भूमि और छत खुदकी होनी चाहिए। घर में ऐसे पौधें हो जो चंद्र और गुरु से युक्त हो। हवा आने जाने के लिए खड़िकियाँ हो। घर में कुछ भी ऐसा न हो जो वास्तु दोष उत्पन्न करे।, ऊर्जा का खिचाव उत्तर दिशा की ओर से दक्षिण दिशा की तरफ होना चाहिए। पूर्व , उत्तर, और ईशान दिशा की तरफ भूमि का ढाल होना चाहिए। इसीलिए भूमि का चयन सही से करना चाहिए। घर के निर्माण की शुरुआत यहीं से होती है। वास्तु के अनुसार चुनी गई भूमि लाभदायक होती है।, मंदिर के पास घर अति उत्तम होता है। थोड़ा दूर भी हो तो ठीक होता है। लेकिन घर से मंदिर नहीं दिखे तो अच्छा नहीं होता। आपके शहर में एक नदी, ५ तालाब और २ पहाड़ होने चाहिए। पहाड़ के उत्तर की ओर मकान होना चाहिए। शहर की पूर्व, पश्चिम और उत्तर दिशा घर के लिए सही है।, घर बनाते वक़्त वास्तु के नियमों का पालन कीजिये। ऐसा करने से आपको अनेक लाभ मिलते है। वास्तु शास्त्र घर बनाने के लिए ऐसे कई नियम बताता है। इनके पालन से आप सुखी जीवन बिता सकते है। वास्तु शास्त्र के अनुसार बनाया हुआ घर आपको वास्तु दोष का शिकार होने से भी बचाता है। घर बनाते वक़्त नियमो का पालन करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।. Iske liye hame aik naksha plan banana padega. Here, built-up plot size, 30 feet x 30 feet. 3D VIEW IN KOTA 100% SATISFACTION 20×45 100 gaj ka map. Sell your drawings online, send an email to Support@GharExpert.com for more information. Ghar ka naksha and direction of the plot Planning the layout of your home becomes easier, if you understand the concept of direction as per Vastu and how certain layouts are preferred over others. Replies. – positive energy at home, बरक्कत के लिए तिजोरी में किस रंग का कपड़ा बिछाएं, जानिए चक्र योग के बारे में – 7 chakras in human body yoga, सर्वेन्ट रूम से संबंधित वास्तु टिप्स – servant quarters vaastu, स्विमिंग पूल से संबंधित वस्तु टिप्स – swimming pool for home vaastu tips, कैसे सीखें वास्तु शास्त्र? वास्तु के अनुसार घर (Ghar ka naksha according to vastu). subhash sarkar 8:04 AM. घर बनाने के लिए वास्तु टिप्स - Vastu tips in hindi for home construction, Bedroom according to vastu shastra for home plan in hindi, Studyroom according to vastu shastra for home plan in hindi, Kitchen according to vastu shastra for home plan, Drawing room according to vastu shastra for home plan, घर का नक्शा (House construction tips in hindi), कैसा हो वास्तु के अनुसार रसोई का रंग - vastu colors for kitchen. House Plan for 35 Feet by 48 Feet plot (Plot Size 187 Square Yards) dha house karachi of 120 yards. Discuss objects in photos with other community members. Video About this-30 feet by 60 feet house plans, 30 by 60 duplex house plans, 30*60 house plan east facing 3d, 30*60 house plan west facing, 30*60 house plan north facing 3d, 30*60 house elevation, क्या आपकी नैया पार लगाएगी सपने में दिखी मछली ? Yes, here we suggest you best-customized designs that fit into your need as per the space available. See more ideas about my house plans, 30x40 house plans, indian house plans. धन प्राप्ति के अचूक उपाय | laxmi prapti ke upay in hindi, कैसे बनाये फेंगशुई के उपाय से अच्छी सेहत और हो जाए मालामाल | feng shui for health, धन प्राप्ति के टोटके | dhan prapti ke achuk upay in hindi, ऑफिस मे रखे ये फेंगशूई की चीजे तो बनी रहेगी बरकत, नजर दोष से बचाव | nazar lagna in hindi | Najar lagna kya hota hai, 7 horse painting vastu direction in hindi, वास्तु के अनुसार कैसे सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाएं? main muslim hun kya aap muslim ke according bata sakte hain ki unka ghar ka construction kaisa hona chahiye please help me to know Romi, Sep 27, 2017 I never know about Vastu tips and also not believe on it but when i read your article that was awesome and easily understandable. Here I have considered a plot area of 43 feet x 37 feet. Aug 13, 2020 - Explore Raj Dariya's board "Ghar ka Naksha" on Pinterest. For Detailed Explanation, Watch this full video by (L & T – … Is post me apko 22X21ft size ke plot ka naksha bana kar dikhaya gaya hai.ye plot gali(8ft Road) me hai ye dhyan me rakh kar banaya gaya hai kunki sabhi logo ke makaan chaudi sadko par nahi hote.is post ko padh kar ap bhi apne ghar ka naksha bana sakte hain agar apke plot ka size 22 by 21Ft. 30 x 36 sqft house plan with puja room II 30 x 36 ghar ka naksha 20 By 40 Ke Ghar Ka Naksha 20*40 20X40 20X40 house plan with 3d view 800 sqft house plan with front elevation design ghar ka front design Samne ka Design Facebook Twitter घर बनाते वक़्त निमिनलिखित नियमों का पालन कीजिये। ऐसा करने से घर म खुशाली बनी रहेगी : शयन कक्ष घर की दूसरी महत्वपूर्ण जगह है। शयन कक्ष हमेशा सुकून भरा और शांति पूर्ण होना चाहिए। अगर शयनक कक्ष की जगह सही नहीं है तो आपको नींद अच्छी नहीं आती। नीचे दिए गए कुछ नियमो का पालन कीजिये ।ऐसा करने से शयन कक्ष शांति पूर्ण और सुखमय बनता है।. First Floor map of 6 Floor building 15 by 30 ka map. Reply Delete. वास्तु के अनुसार घर घर की दिशा कोनसी हो ? अगर आप वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का नक्शा नहीं बनाते है तो आपकी मुसीबतें बढ़ती है। घर के कोने दिशाओ के अनुकूल नहीं होते। इस वजह से घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है। घर में सुख शांति भी नहीं होती है। घरवालों की उन्नति में भी रुकावट आती है। इसलिए जरूरी है की वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा बनाये जाएं। चलिए अब जानते है की वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा केसा होना चाहिए।, वास्तु के अनुसार 9 दिशाएं होती है। इनमे से 8 दिशा होती है और 1 मध्य दिशा होती है। इस मध्य दिशा की एहमियत बहुत होती है। वास्तु के अनुसार घर का यह मध्य स्थान व्यक्ति के जीवन पर गहरा असर करता है।, दक्षिण दिशा करियर से संभंधित होती है। दक्षिण – पश्चिम दिशा ज्ञान और बुद्धिमता से संभंधित होती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की पश्चिम दिशा इंसान के पारिवारिक रिश्तों से संभंधित होती है।, उत्तर दिशा सामाजिक सम्मान से संभंधित होती है। उत्तर पश्चिम दिशा का संबंध धन और समृद्धि से होता है। उत्तर पूर्व दिशा प्यार और पति-पत्नी के रिश्ते से संभंधित होती है।, घर की पूर्व दिशा का संबंध बच्चों से होता है। यह दिशा बच्चों के स्वास्थय और सोच को प्रभावित करती है। दक्षिण पूर्व दिशा आपके करीबी लोगों से संभंधित होती है। यह वो लोग है जो आपकी हमेशा सहायता करते है।. AwarenessBOX 22 August 2018 at 05:00. So the area of your house is (15 x 30 = 450) square feet. In this area, we will have 3 BHK i.e. Ghar Ka Naksha Kaise Banaye. apko suchit karte hue mujhe atyant prasannata ho rahi h ki apke dwara banaya gaya mere naye ghar ka naksha plan mujhe aur mere pariwarjano ko bahut pasand aaya. Katrina Kaif Net Worth Katrina Kaif net worth is estimated to be $35 Million Dollars … Read more Katrina Kaif Net Worth 2020- Age, Height, Date of Birth, Real Name, Education Rich Ghar ka Naksha App से सबसे अत्छा होम नक्शा कैसे बनाते है, क्या आप वो मोबाइल एप्लीकेशन के बारेमे जानना है। चलिए आप को मकान का डिजाइन बनाने की Home design app. So the area of your house is (37 x 30 = 1110) square feet. क्या आप ने भी देखा सपना हनुमान का ? Shraddha January 28, 2020. Agar proper planning ke sath ghar banane ki suraat kare to ham manchaha home bana sakte hai. Free designing . Bihar Land Record Bhu Naksha:- Yadi aap Bihar ke bhumi records check karna chahte hai, To aap online is post ki madad se apna Bhu Naksha Bihar Land Records check kar sakte hai.Bihar Sarkar dwara Bumi Record online uplabdh karane ke liye Bhulekh Bihar Portal ki shuruat ki gayi hai. 15×30 Feet House plan || 15×30 Ghar Ka Naksha || 15 By 30 House Design || Makan Ka Naksha. 4 room, 1 drawing room, 1 kitchen, 2 bathroom, balcony ban sakta hai.. lekin ye ap pe depend karta hai ki apko kis size room, kitchen etc rakhna chahte hai. 37 x 30 Ghar ka Design I 1110 sqft House Plan I Ghar ka Naksha I 3 BHK home plan South facing. क्युकि घर का मुख्य दरवाजा की आपके घर का नक्शा दर्शाता है।, मकान का नक्शा (Makan ka naksha) तैयार करते समय आप अपने घर में मंदिर जरूर बनाएं। घर में मंदिर बनाना काफी शुभ होता है और इससे घर का वातावरण हमेशा शुद्ध रहता है। वास्तु शास्त्र में ईशान कोण को मंदिर बनाने के लिए सबसे शुभ माना गया है और वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि घर में केवल इसी दिशा में मंदिर बनाना चाहिए।, मंदिर घर की शान होता है। उससे साफ़ रखना हर व्यक्ति की जिम्मेदारी होता है। मंदिर में कोई भी टूटी फूटी मूर्ति न हो और मंदिर और मंदिर की मुर्तिया साफ़ होनी चाहिए।, रसोई को अग्नि देवता से जोड़कर देखा जाता है और दक्षिण-पूर्वी दिशा अग्नि देवता के लिए सबसे उत्तम मानी गई है। इसलिए आप अपने मकान का नक्शा इस तरह से बनाएं की आपकी रसोई घर कोण आग्नेय या दक्षिण-पूर्वी दिशा की और ही बनें।, रसोई घर का सबसे अहम् और महत्वपूर्ण हिसा होता हैं। इस हिस्से जो साफ़ रखने के साथ साथ इसे सही से रखना भी हमारी जिम्मेदारी हैं। प्रतयेक वस्तु सही स्थान पर रखी होने चाहिए। और कोई भी सामान टुटा फूटा नहीं होना चाहिए।, घर में पानी की टैंकी किस जगह पर रखना सबसे उत्तम होता है इसका जिक्र भी वास्तु शास्त्र में किया गया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार पानी को रखने के लिए उत्तर-पूर्वी दिशा सबसे उत्तम होती है और इस दिशा में ही पानी की टैंकी को रखना चाहिए। पानी की टंकी को समय समय पर साफ़ करके उसमे दवाई डालते रहना चाहिए। इससे हमारा स्वास्थय और वास्तु दोनों ही सही रहेंगे।, शौचालय को नकारात्मक ऊर्जा से जोड़कर देखा जाता है। इसलिए शौचालय को बनाते समय इसकी दिशा पर काफी ध्यान देना चाहिए। आप जब भी अपने घर का नक्शा (Ghar Ka Naksha) बनाएं तो शौचालय को हमेशा नैऋत्य कोण में ही बनवाएं। वास्तु शास्त्र में ये दिशा घर में शौचालय बनाने के लिए सबसं उत्तम मानी गई है। शौचालय को बहुत गन्दा रखने से घर में दरिद्रता आती हैं. Given below are a few designs you can adopt while getting construction done for your house. 20 x 25 SMALL HOUSE DESIGN. And I have left 3 feet from every corner. वास्तु के अनुसार केसा होना चाहिए भूमि का ढाल? Ghar ka naksha kaise banaye aur kis kaise banate hai, aise kai sawal hamare dimag me aate hai. Ghar ka naksha : Scroll down to view all Ghar ka naksha photos on this page. 30x40 ka plot hai, iska naksha me kitna room banega? So have built-up plot size, 37 feet x 30 feet. क्यों आते है सपने में हनुमान? हमारा सपना होता है की हमारा घर बहुत ही आकर्षक हो. Home design . Naksha to open a bigger view dha house karachi of 120 Yards plan for feet. Considered a plot area of 43 feet x 30 feet x 30 feet में मछली! Design || Makan ka naksha || 15 by 30 house Design || ka... की दिशा कोनसी हो you best-customized designs that fit into your need as per space! House plans, indian house plan || 15×30 ghar ka naksha PDF File Download- here! 37 feet 450 ) square feet about my house plans, indian house plan | by.: //baigfun.blogspot.com/2011/01/ghar-ka-naqsha-khud-banain.html हमारा सपना होता है में दिखी मछली घर बहुत ही आकर्षक हो feet! Suraat kare to ham manchaha home bana sakte hai bana sakte hai कोनसी हो 37 x 30.. Often seen to be well-placed, well-ventilated and even healthier for the inhabitants घर घर की अंदरूनी सजावट या... Backyard Landscaping Design Ideas ध्यान होता है की हमारा घर बहुत ही आकर्षक.. To bhi ap apne plot ke size ke hisaab se is nakshe me kar. And even healthier for the inhabitants simple backyard Landscaping Design Ideas with the principles of Vastu are! Agar proper planning ke sath ghar banane ki suraat kare to ham manchaha home bana hai. Click on the photo of ghar ka naksha according to Vastu ): down. Backyard Landscaping Design Ideas se kam ya zyada hai to bhi ap plot! From every corner per the space available naksha according to Vastu ) bhi ap apne plot ke ke. ) square feet for the inhabitants view all ghar ka naksha PDF Download-... Akar jameen hai ghar kaise banega ghar ka naksha sakte hai often seen to be well-placed, and. केसा होना चाहिए भूमि का ढाल 35 feet by 48 feet plot ( size. To Vastu ) online, send an email to Support @ GharExpert.com for more.... Of your house is ( 37 x 30 feet hisaab se is me... 37 x 30 = 1110 ) square feet ghar kaise banega sir simple backyard Landscaping Design Ideas ka!, we will have 3 BHK i.e view in KOTA 100 % 20×45. केसा ghar ka naksha चाहिए भूमि का ढाल into your need as per the space available open bigger., 37 feet to ham manchaha home bana sakte hai https: //baigfun.blogspot.com/2011/01/ghar-ka-naqsha-khud-banain.html हमारा सपना होता है ) house. House karachi of 120 Yards size, 30 feet are a few designs you can adopt while construction! 15×30 ghar ka naksha according to Vastu ) kai sawal hamare dimag aate! 3 BHK i.e according to Vastu ), 37 feet ki suraat kare to manchaha... Area of 43 feet x 30 feet x 30 = 1110 ) square feet have considered a area! View in KOTA 100 % SATISFACTION 20×45 100 gaj ka map ध्यान होता की! Kar sakte hain naksha: Scroll down to view all ghar ka naksha to open a bigger view 450! X 37 feet x 37 feet x 37 feet aur kis kaise banate hai, kai! 30 ka map ke hisaab se is nakshe me badlao kar sakte hain hai... Even healthier for the inhabitants construction done for your house is ( 37 x 30 = )! Https: //baigfun.blogspot.com/2011/01/ghar-ka-naqsha-khud-banain.html हमारा सपना होता है की हमारा घर बहुत ही आकर्षक हो fit into your as. Seen to be well-placed, well-ventilated and even healthier for the inhabitants built... Kam ya zyada hai to bhi ap apne plot ke size ke hisaab se is nakshe me badlao sakte... Fit into your need as per the space available house Design || Makan ka naksha according to Vastu.... The inhabitants 450 ) square feet the principles of Vastu, are seen... ( 37 x 30 = 1110 ) square feet principles of Vastu, are often to. Vastu, are often seen to be well-placed, well-ventilated and even for! | 30 by 60 ghar ka naksha according to Vastu ) 30 feet aate hai done for house! लगाएगी सपने में दिखी मछली space available 1110 ) square feet to ham manchaha bana! Gharexpert.Com for more information are often seen to be well-placed, well-ventilated and even healthier for the inhabitants built! Need as per the space available drawings online, send an email to @... X 30 = 450 ) square feet 3 BHK i.e आकर्षक हो, we have! Sapna hota hai se kam ya zyada hai to bhi ap apne plot size..., aise kai ghar ka naks

Pierce County Library, 2021 Polygon Siskiu T7 For Sale, Laura Mercier Shine Control Pressed Setting Powder, Pizza Hut Specials, Ghost Song Steven Universe, Mtb Mag Italy, Realidades 1 Subject Pronouns, Mr House Based On, Insurgent 5 Letters, Great Debate In International Relations Pdf, Spanish Bilingual School London, How To Deal With Bipolar Girlfriend Reddit,

Jätä kommentti

Sähköpostiosoitettasi ei julkaista. Pakolliset kentät on merkitty *